किसानो के लिए संयुक्त नगद ऋण मर्यादा के लिए योजना

 

हेतु:

फसल उत्पादन के लिए इनपुट की खरीदी.

 

योग्यता:

जो मालिक-खेतिहर, असामी, पट्टाधारी है या दर्ज अधिभोग हक्को के साथ ग्राही किसान या जिनके पास खेती के पैतृक/चिरस्थायी अधिकार है ऎसे किसान मौखिक असामी लोन के लिए तभी योग्य हो सकते है अगर जमीन मालिक सह-कर्जदार बनने के लिए राजी हो.

 

लोन की सीमा:

जरूरत पर आधारित, धनराशि के पैमाने पर आधारित.

 

सुविधाओं की प्रकृति:

कैश क्रेडिट सुविधा:
प्रवर्तमान आधार पर फसल उत्पादन की जरूरतो को पूर्ण करने के लिए सामान्यत: फसल लोन नगद ऋण के तौर पर दी जाती है.
छोटी अवधिवाली लोन:
किसी खास ऋतु के दौरान फसलें उगाने के लिए जैसे कि खरीफ़ ऋतु, रवि ऋतु, वगैरा.

 

लोन का पुन:भुगतान:

फसल लुनने और उसके विपणन के समय के साथ ही फसल लोन की वसूली के लिए देय तारीखें निर्धारित की जाती है