ब्रोइलर प्लस योजना
हेतु : इस योजना के तहत ब्रोइलर शेड के निर्माण के लिए, ब्रोइलर फार्मिंग के लिए आवश्यक अन्य किसी भी विकास कार्य और उपकरण के लिए किसानो को लोन दी जाती है.
ब्रोइलर प्लस लोन के लिए कौन योग्य है :  कोंट्राक्ट फार्मिंग के जरिए ब्रोइलर उत्पादन करने वाली कंपनियो के साथ जिन किसानो ने अनुबन्ध किया है. पौल्ट्री का संचालन करने के लिए आपके पास पेय पानी का स्त्रोत होना चाहिए और पौल्ट्री फार्मिंग में आपको अनुभव होना चाहिए. अभी यह योजना चेन्नई, हैद्राबाद, कर्णाटक और कोलकता में कार्यान्वित है
लोन राशि : प्रत्येक 5000 पक्षियों के पालन के आयोजन पर रू.3 लाख तक. अधिकतम लोन रू.15 लाख की होगी.
रू.50,000 तक - 100% धनराशि दी जाती है.
रू.50,000 से ज्यादा - 85% धनराशि दी जाती है.
लोन की अदायगी :  शेड के निर्माण के लिए लोन चरणों में अदा की जाएगी और उपकरण के सप्लायर को सीधी चुकाई जाएगी.
सुरक्षा
लोन राशि प्रदान की जानेवाली सुरक्षा
रू.50,000/- तक बैंक की धनराशि द्वारा निर्मित संपत्तियो की भाराक्रांति
रू.50,000 से उपर
  1. बैंक की धनराशि द्वारा निर्मित संपत्तियो की भाराक्रांति
  2. जिस पर पौल्ट्री शेड और अन्य इंफ्रास्ट्रक्चर प्राप्य है या निर्माण का प्रस्ताव हो जिससे कम से कम 50% मूल्य एडवांस में सम्मिलित हो वह जमीन को साम्यिक या पंजीकृत प्रकार से गिरवी रखना
आप पुन:भुगतान कैसे करेंगे : 5 साल की अवधि में लोन का पुन:भुगतान दो महिनो में एक बार किश्तो में हो सकता है (जो कंपनी द्वारा ब्रोइलर की बिक्री और विकास के दाम चुकाने के समय ही पडता है).
इस लोन के लिए कैसे आवेदन दे : आप आवेदन के लिए हमारी सबसे नजदीकी शाखा का संपर्क कर सकते है या आपके गाँव की मुलाकात लेने वाले विपणन अधिकारीयों से भी बात कर सकते है और जमीन के कागजात पेश कर सकते है.